सर्वर क्या होता हैं ? सर्वर के प्रकार क्या हैं ?

Share

सर्वर एक ऐसा माध्यम हैं जिसकी मदत से Client सर्वर में स्टोर किये डाटा को आसानी से एक दूसरे के साथ शेयर कर सकते हैं। और साथ ही आप सर्वर कंप्यूटर (Computer server) के रिसोर्सेस (computer resources) को भी उपयोग कर सकते हैं।

लेकिन क्या आप जानते हैं की सर्वर क्या होता हैं ?, सर्वर कैसे कार्य करता हैं?, सर्वर को कैसे बनाया जाता हैं?, सर्वर के प्रकार क्या क्या हैं ? यदि नहीं तो आज gizmobs.com के इस पोस्ट में आपको सर्वर से सम्बंधित सभी जानकारिया बताई गयी हैं।

सर्वर क्या होता हैं ? | What is Server in Hindi ?

what is server

सर्वर एक प्रकार का कंप्यूटर एप्लीकेशन प्रोग्राम या हार्डवेयर होता हैं जो जानकारियों या डाटा को किसी अन्य कंप्यूटर या डिवाइस तक पहुंचाता हैं। ये सभी अन्य कंप्यूटर जो जानकारी प्राप्त करते हैं सर्वर कंप्यूटर के क्लाइंटस कहलाते हैं। ये सभी कंप्यूटर क्लाइंट, सर्वर से लोकल एरिया नेटवर्क या इंटरनेट के माध्यम से आपस में कनेक्टेड होते हैं और आपस में कम्यूनिकेट करते हैं। और सूचनाओं का आदान प्रदान करते हैं।

सर्वर कंप्यूटर एक स्पेशल हार्डवेयर व सॉफ्टवेयर से मिल कर बनाया जाता हैं ताकि सर्वर multiple clients को मल्टीटास्किंग के साथ आसानी से संभाल सके। यही कारण हैं की सर्वर कंप्यूटर आम कम्यूटर की तुलना में बहुत महंगे होते है। और इनमे नार्मल कंप्यूटर की तुलना में Core’s, Thread’s बहुत ज्यादा होते हैं ताकि यह मल्टीप्ल वर्क को आसानी से संभाल सके।

सर्वर कैसे कार्य करता हैं ? | How does the Server Work

सर्वर का मुख्य कार्य कंप्यूटर स्टोरेज और क्लाइंट्स (user’s) के बीच इंटरफ़ेस तैयार करना होता हैं ताकि क्लाइंट आसानी से कंप्यूटर सर्वर स्टोरेज डाटा का उपयोग कर सके। Server Computer Admin क्लाइंट्स के लिए सर्वर में permission set करता हैं जिसके द्वारा क्लाइंट सर्वर पर स्टोर्ड हुए डाटा को आसानी से एक्सेस कर सकता हैं।

client / user को सर्वर एक्सेस करने के लिए एक IP एड्रेस या सर्वर एड्रेस दिया जाता हैं client / user जब सर्वर एड्रेस पर request करता हैं तो सर्वर admin द्वारा set permission को चेक करता हैं यदि सब सही हुआ तो सर्वर आपके request के अनुसार response करता हैं उसके बाद ही आप सर्वर में स्टोर्ड डाटा या सर्वर के रिसोर्सेस का उपयोग कर सकते हैं।

सर्वर के डाटा को प्राइवेट और पब्लिक दोनों प्रकार से रखा जा सकता है। यानि की सर्वर एडमिन कुछ डाटा को प्राइवेट यूजर के लिए रखता हैं और कुछ डाटा को पब्लिक सर्वर के तौर पर सेट करता हैं ताकि कोई भी क्लाइंट या यूजर उस सर्वर पर वही डाटा या रिसोर्सेस उपयोग कर सके जो सर्वर एडमिन ने परमिशन सेट किये हैं।

Read More

सर्वर के प्रकार | Types of Servers

Computer Servers को उनके कार्य के आधार पर बांटा गया हैं। जो निम्न प्रकार से हैं –

  • Web Servers
  • Mail Servers
  • Data Servers
  • Application Servers
  • Game Servers
  • FTP Servers

1. Web Servers

वेब सर्वर भी एक प्रकार का स्पेशल कंप्यूटर प्रोग्राम या हार्डवेयर होता हैं। जिसमे आपको Apache, IIS, NGINX, LightSpeed जैसे वेब एप्लीकेशन pre-installed दी जाती हैं। इन एप्लीकेशन में HTTP (Hypertext Transfer Protocol) के सभी फीचर्स उपलब्ध होते हैं जिनकी मदत से आप वेब पेजेज (web pages) को आसानी से सर्वर पर रन करा सकते हैं।

web servers का उपयोग dynamic website’s or Static website’s बनाने के लिए उपयोग किया जाता हैं web server user अपनी वेबसाइट के डाटा को वेब सर्वर के स्टोरेज में स्टोर करता हैं और web server admin द्वारा दिए गए IP Address or Domain Name के द्वारा उसे इंटरनेट के माध्यम से वर्ल्ड वाइड सभी के लिए उपलब्ध करता हैं।

2. Mail Server

Mail Server में आपको SMTP (Simple Mail Transfer Protocol) एप्लीकेशन दिया जाता हैं जिसकी मदत से आप ईमेल को सेंड और रिसीव कर सकते हैं वैसे देखा जाये तो बहुत से मेल सर्वर, वेब सर्वर में ही इनस्टॉल होते है यानि की मेल सर्वर भी एक प्रकार का वेब सर्वर ही हैं। लेकिन इसमें आपको http protocol के साथ साथ SMTP Protocols भी दिए जाते हैं। mail server में आपको ईमेल को ट्रांसफर करने और रिसीव करने के प्रोटोकॉल्स (POP3, IMAP) उपलब्ध होते हैं।

3. Data Server

डाटा सर्वर एक ऐसा कंप्यूटर होता हैं जिसमे आपको data को स्टोर करने की सुविधा दी होती हैं। आप इस डाटा सर्वर में अपना कोई भी डाटा स्टोर कर सकते है। और दुनिया के किसी भी जगह से इंटरनेट के द्वारा उस डाटा को आसानी से एक्सेस भी कर सकते हैं। उदाहरण के लिए – Google Drive, One Drive आदि बहुत से ऑनलाइन डाटा सर्वर हैं जहा आप अपना कोई भी डाटा रख सकते हैं।

डाटा सर्वर बहुत ज्यादा सिक्योरिटी वाला होता हैं आपका डाटा पूरी तरह से वायरस और हैकर फ्री रहता हैं। साथ ही डाटा सर्वर पर डाटा खोने का खतरा बिलकुल न के बराबर होता हैं। और यदि आपका डाटा किसी कारण से डिलीट हो जाता हैं तो आप बैकअप के द्वारा अपने डाटा को आसानी से रिकवर कर सकते हैं।

4. Application Server

application server एक ऐसा सिस्टम होता हैं जिसमे application / software को host किया जाता हैं जैसे – java application server, SAP Server, Tally Server आदि होते हैं।

application server Framework एक Software Framework होता हैं। जिसके द्वारा Application Server को बनाया जाता है। एप्लीकेशन सर्वर के अंदर आपको web application व Server Environment दोनों फीचर्स उपलब्ध होते हैं।

5. Game Server

Game Server एक स्पेशल हार्डवेयर वाला कंप्यूटर सिस्टम और प्रोग्राम होता हैं जिसमे आपको multiple video games दिए जाते हैं। आप इन गेम्स को ऑनलाइन इंटरनेट के द्वारा खेल सकते हैं।

गेम सर्वर में मल्टीप्ल यूजर साथ कनेक्ट हो कर गेम खेल सकते हैं साथ ही हर प्लेयर का एक पर्सनल अकाउंट होता हैं और उसका पूरा गेम डाटा उसमे सेव रहता हैं। गेम सर्वर में यूजर या क्लाइंटस के डाटा को हैंडल करने के लिए पर्याप्त ट्रांसफर स्पीड होती हैं।

6. FTP Server

FTP server के द्वारा आप किसी भी डिवाइस के द्वारा डाटा को upload व download कर सकते हैं। FTP server एक प्रकार का कंप्यूटर होता हैं जिसमे FTP Protocol इंस्टॉल होता हैं जिसके द्वारा यूजर डाटा को ftp server में आसानी से अपलोड कर सकता हैं और किसी को भी शेयर कर सकता है।

ऑनलाइन रिमोट डाटा शेयरिंग करने का यह बहुत ही सुरक्षित और आसान तरीका हैं जिसमे आपके data loss के चांसेस न बराबर होते हैं।

FTP Server को रन करने के लिए TCP/IP की आवस्यकता होती हैं ताकि आप इंटरनेट द्वारा डाटा को FTP server में अपलोड या डाउनलोड कर सके।

Read More

इस पोस्ट के द्वारा आप अच्छे से समझ गए होंगे की सर्वर क्या होते हैं सर्वर के प्रकार और सर्वर कैसे काम करता हैं यदि फिर भी सर्वर से संबन्धित कोई प्रश्न हो तो आप हमें नीचे कमेंट के द्वारा या ईमेल (contact.gizmobs@gmail.com) द्वारा बता सकते हैं।

Share

Leave a Comment