What is the intranet? Intranet kya hai Hindi me Jane?

Intranet का नाम आप सभी ने बहुत ही कम सुना होगा। यदि आप ने कही सुना भी होगा तो आप उसे इंटरनेट (internet) समझते होंगे। वैसे देखा जाये तो internet और intranet शब्दो मे ज्यादा अंतर नही है । लेकिन इनके उपयोग और काम करने मे बहुत ही ज्यादा अंतर है | जिस प्रकार से हम internet के द्वारा पुरे संसार में कनेक्ट हो सकते है | उसी प्रकार intranet के द्वारा हम oraganizations के अंतर्गत आपस में कनेक्ट हो सकते है प्रत्येक oragnizations का अपना एक intranet sever होता है जिसके द्वारा वह अपने कार्य और डाटा को अपने organizations के अंतर्गत ही share करता है | अर्थात अपने डाटा को secure रखता है|

Internet का उपयोग हम world मे कही भी कर सकते है जिससे की हम internet में उपलब्ध डाटा को आसानी से कही भी कोई भी access कर सकता है | क्योकि internet पर डाटा को public shareकिया जाता है ताकि कोई भी अन्य व्यक्ति इस डाटा को देख सके | वही दूसरी तरफ intranet का उपयोग केवल organization या company मे किया जाता है । जिसके द्वारा हम डाटा का आदान प्रदान केवल oraganizations और company के अंतर्गत ही कर सके यह डाटा पूरी तरह से प्राइवेट व secure होता है। और इस डाटा को केवल वही organizations members या employees access कर सकते है जिन्हें authority दी गयी हो| अन्य oraganizations में नहीं |

अर्थात इंट्रानेट में डाटा को शेयर केवल same oraganizations में किया जाता है लेकिन बहुत से ऐसी organizations भी है जो intranet द्वारा डाटा को अपने customers को भी share करती है जैसे- intranet software company  ये company या organizations अपने software को publicly access नहीं करके इसे private access के रूप में अपने customers को software के माध्यम से intranet sever access कराती है| जिससे की वह अपने customers को intranet create करने व techinical problem आदि में customers की सहायता कर सके|

इंट्रानेट कैसे कार्य करता है?

internet और intranet दोनों ही network communication स्थापित करने के माध्यम है लेकिन intranet को हम केवल private network के रूप में schools, colleage, company, Government organizations & Organizations आदि में उपयोग होता है| लेकिन internet और intranet दोनों ही network communication create करने के लिए TCP/IP protocols (जाने- tcp/ip क्या होते है?) का उपयोग करते है |

intranet को colleage या organizations आदि में create करने के लिए LAN का उपयोग किया जाता है | intranet व internet दोनों ही डाटा को डिस्प्ले करने के लिए web pages का उपयोग करते है जिससे की डाटा को access कर देख सके |  साथ ही ये दोनों web programming like – html, XML, Flash, javaScript & JAVA आदि web programming आदि से बने web pages में डाटा like- audio, video, images & Text आदि को दिखाते है |

intranet access करने के लिए हमे web server or ip address और host की जरुरत होती है| इन दोनों के द्वारा ही आप intranet create कर सकते है और साथ ही इसी के द्वारा आप अपने customers और employes के साथ intranet server से communications कर सकते है |

intranet एक address के माध्यम से access किया जाता है जिस तरह से कोई websites को access करने के लिए हमे websites के address की जरुरत होती है उसी तरह intranet को access करने के लिए भी हमे intranet address की जरुरत होती है ये address ip address भी हो सकता है और web address भी हो सकता है | क्योकि जब हम local area network पर intranet server create करते है तो तब हम intranet server की ip address के द्वारा इसे access कर सकते है| लेकिन उसके लिए हमे access करने की permission होनी चाहिए| intranet को access करने के लिए web browser या किसी software का उपयोग करते है जिसके जरिये हम intranet server से connect हो सके| data को access करने में TCP/IP(transmisssion control protocol/internet protocol) protocol का उपयोग होता है|

Intranet के फायदे? (Benefits of Intranet?)

Intranet के फायदे बहुत से है क्योकि यह एक ऐसा माध्यम है जिसके जरिये हम अपने data को अपने employes या फिर customers तक सुरक्षित रूप साँझा कर सकते है |

  • intranet के द्वारा आप employees या customer तक डाटा को आसानी से साझा कर सकते है|
  • intranet के द्वारा आप internal communication स्थापित कर सकते है|
  • intranet के द्वारा आप अपनी कंपनी के कुछ demo आदि अपने नए cutomers या employees को web pages के द्वारा बता सकते है|
  • intanet create करने के लिए आप web pages या फिर intranet software का उपयोग कर सकते है जिसे आप online market से खरीद सकते है या किसी developer से बना भी सकते है|
  • intranet के द्वारा आप किसी  project पर अपने team members के साथ मिल कर काम कर सकते है|
  • intranet एक private server है जिसको access करने के लिए हमे administrator के द्वारा permission होनी चाहिए या फिर हमारे पास login details होने चाहिए बिना इन दोनों के हम intranet server को access नहीं कर सकते है|
  • intranet का सबसे ज्यादा फायदा company या organizations के लिए होता है क्योकि large company में डाटा को एक स्थान से दुसरे स्थान में शेयर करना होता है जिसके लिए company या organizations intranet का उपयोग करती है ताकि वह अपनी team के साथ कम्यूनिकेट कर सकते साथ ही डाटा का आदान प्रदान कर सकते|
  • intranet को आप different types के कार्यो के लिए उपयोग कर सकते है जैसे social intranet, forum based intranet, document share based intranet, live communication based intranet & other | ये सभी intranet types है जिनके द्वारा आप communications स्थापित कर सकते है| इन सभी का उपयोग करने के लिए आपको intranet software का उपयोग करना होगा या फिर आप specific type पर developer द्वारा web pages design कर सकते है और उसे local server पर install कर intranet communication स्थापित कर सकते है |

Intranet किसी भी company या आर्गेनाइजेशन के लिए बहुत ही जरुरी होता है क्योकि इससे समय की बहुत ज्यादा बचत होती है साथ ही आप अपने team या company के members के साथ communication स्थापित कर सकते है| intranet को अपनी आवश्यकता के अनुसार स्थापित किया जाता है | ज्यादातर intranet local area network पर स्थापित किया जाता है|

यदि यह पोस्ट या आर्टिकल आपको पसंद आया हो तो आप कमेंट कर हमे जरुर बताये साथ ही अन्य सम्बंधित जानकारी के लिए आप हमे कमेंट या ईमेल कर सकते है|

ईमेल @ – [email protected]